बाइक लोन इंटरेस्ट रेट: यदि आप लोन लेकर बाइक खरीदना चाहते है तो आपको बाइक लोन इंटरेस्ट रेट (ब्याज दर) के बारे में भी पूरी जानकारी होनी चाहिए। क्योंकि लोन के लिहाज से ब्याज दर बहुत महत्वपूर्ण होती है। इसी को ध्यान में रखते हुए हम आपको इस पोस्ट मे बाइक लोन इंटरेस्ट रेट (ब्याज दर) के बारे में बताएंगे।

आप कई बैंकों व एनबीएफसी के बाइक लोन इंटरेस्ट रेट की तुलना करके कम ब्याज दर पर लोन ले सकते है। हम आपको बताएंगे कि कौन सा बैंक या एनबीएफसी बाइक लोन पर कितना ब्याज (Interest) वसूलता है। साथ ही आपको कुछ ऐसे कारकों (Factors) के बारे में भी बताएंगे जो बाइक लोन की ब्याज दर को प्रभावित करते हैं। व कुछ ऐसी बातें जिनका बाइक लोन लेते समय ध्यान रखना चाहिए।

बाइक लोन इंटरेस्ट रेट, Bike Loan Interest Rate, two Wheeler Loan rate of interest, कम ब्याज लोन के लिए जरूरी बातें
बाइक लोन इंटरेस्ट रेट (Bike Loan Interest Rate)

बाइक लोन इंटरेस्ट रेट (ब्याज दर)

आप सभी जानते होंगे कि जब बैंक किसी को लोन देता है तो बैंक लोन लेने वाले व्यक्ति से ब्याज वसूलता है। बाइक खरीदने के लिए लिये गये लोन पर लगने वाले ब्याज को बाइक लोन ब्याज या बाइक लोन इंटरेस्ट कहते है।
अलग अलग बैंकों की बाइक लोन की ब्याज दर भिन्न हो सकती है। वैसे बाइक लोन की ब्याज दर 9 से 28 प्रतिशत तक हो सकती है। लोन की ब्याज दर कई कारणों से कम या ज्यादा भी हो सकती हैं। इन सभी कारणों को हम इसी आर्टिकल मे बताने वाले हैं। आगे हम अलग अलग बैंकों द्वारा बाइक लोन पर लिया जाने वाली ब्याज दर को जानेंगे।

HDFC Two Wheeler Loan Interest Rate

एचडीएफसी बैंक, बाइक लोन पर 14.50 से 20.90 प्रतिशत ब्याज वसूलता है। इस बैंक से लोन लेने के लिए मिनिमम आय 84000 रूपए प्रतिवर्ष होनी चाहिए।
एचडीएफसी बैंक, बाइक लोन पर 3 प्रतिशत प्रोसेसिंग फीस भी लगती हैं।
Super Bike Loan के लिए 10.50%- 21% तक ब्याज दर लागू होती है।

Canara Bank Bike Loan Interest Rate

केनरा बैंक बाइक लोन के लिए 9 से 13.90% इंटरेस्ट वसूलता है।
केनरा बैंक On Road Two Wheeler के लिए 90 प्रतिशत लोन देता है जबकि Ex Showroom Price पर 100 प्रतिशत लोन मुहैया करता है।
लोन की अवधि 12 महीने से 48 महीने तक रखी जा सकती हैं।
प्रोसेसिंग फीस अधिकतम 3 प्रतिशत हो सकती है।
आवेदनकर्ता की मासिक सैलरी 7000 रूपए व Self Employed के लिए 6000 रूपए प्रतिमाह आय होनी चाहिए।

ICICI Two Wheeler Loan Interest Rate

ICICI Bank Two Wheeler Loan के लिए शुरुआती ब्याज दर न्यूनतम 11 प्रतिशत व अधिकतम 25% तक हैं। वहीं ब्याज दर कई कारणों से कम या ज्यादा भी हो सकती है।
प्रोसेसिंग फीस की बात करें तो आईसीआईसीआई बैंक बाइक लोन पर 1 प्रतिशत से 2.5 प्रतिशत तक प्रोसेसिंग फीस वसूलता है।
आईसीआईसीआई बैंक से सुपर बाइक के लिए भी लोन लिया जा सकता है।

Bank Of India Two Wheeler Loan Interest Rate

बैंक आफ इंडिया द्वारा बाइक लोन पर न्यूनतम ब्याज 7.45% तथा अधिकतम 8.55% लगाया जाता है।
बैंक आफ इंडिया से बाइक लोन लेने पर लोन रकम का एक प्रतिशत प्रोसेसिंग शुल्क लगता है।
Bank Of India बाइक लोन की अधिकतम अवधि 5 साल (60 महीने) की होती है।

Bank Of Baroda Two Wheeler Loan Interest Rate

बैंक ऑफ बड़ौदा से बाइक लोन लेने पर लगभग 7 प्रतिशत से 11 प्रतिशत तक वार्षिक ब्याज देना पड़ सकता हैं।
बैंक ऑफ बड़ौदा Two Wheeler Loan को Repayment करने के लिए अधिकतम 60 महीने (5 साल) का समय मिल सकता हैं। इस अवधि के दौरान आप किस्तों में लोन को चुका सकते है।
वहीं प्रोसेसिंग फीस की बात करें तो बैंक ऑफ बड़ौदा से बाइक लोन लेने पर आपको लोन रकम का 2 प्रतिशत या न्यूनतम 1000 रूपए प्रोसेसिंग फीस चुकानी होगी।

IndusInd Bank Two Wheeler Loan Interest Rate

IndusInd Bank Bike Loan पर 20% तक ब्याज लग सकता हैं। बैंक से बाइक लोन की अवधि अधिकतम 36 महीने हो सकती है।
IndusInd Bank से बाइक लोन लेने के लिए उधारकर्ता की न्यूनतम आय 10000 रूपए प्रतिमाह होनी चाहिए।

Bajaj Finserv Bike Loan Interest Rate

Bajaj Finserv Bike Loan की शुरूआती वार्षिक ब्याज दर 11.60 प्रतिशत होती है।
बजाज फिनजर्व से बाइक लोन की अवधि 12 से 60 महीने होती है।
Processing Fee कुल लोन का 1 से 3 प्रतिशत हो सकती है।
बजाज फिनजर्व से बाइक की कीमत का 90 प्रतिशत तक लोन लिया जा सकता है।

Hero Fincorp Bike Loan Interest Rate

हीरो फिनकॉर्प से बाइक लोन लेने पर न्यूनतम 10 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर चुकानी होती है। आपकी प्रोफाइल के अनुसार ब्याज दर ज्यादा भी हो सकती है।
हीरो फिनकॉर्प बाइक कीमत का 95 प्रतिशत तक लोन मुहैया करता है।
हीरो फिनकॉर्प बाइक लोन की अधिकतम अवधि 24 से 48 महीने हो सकती है।
लोन की रकम 10000 से 100000 रूपए तक हो सकती है

Axis Bank 2 Wheeler Loan Interest Rate

Axis Bank से Two Wheeler Loan लेने पर आपको 10.80%-28.30% प्रति वर्ष की दर से Interest देना होगा।
Axis Bank Two Wheeler Loan चुकाने की अवधि 48 महीने हो सकती हैं।
एक्सिस बैंक से बाइक लोन लेने के लिए आवेदनकर्ता की मासिक न्यूनतम आय 12000 रूपए होनी चाहिए।
प्रोसेसिंग फीस के तौर पर लोन रकम की 2.5% फीस चुकानी होगी।

PNB Bike Loan Interest Rate

पंजाब नेशनल बैंक बाइक लोन पर 8.70 – 14 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर लगाता है।
PNB Saarthi Loan के लिए न्यूनतम आय 10 हजार रूपए होनी चाहिए।
PNB Power Ride Loan के लिए न्यूनतम आय 8000 रूपए होनी चाहिए।
लोन अवधि:
PNB Saarthi Loan- 24 से 60 महीना
PNB Power Ride Loan- 36 महीने
प्रोसेसिंग फीस- 0.5%

IDFC Bank Two Wheeler Loan Interest Rate

आईडीएफसी बैंक 9 से 22 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर बाइक लोन देता हैं।
IDFC Bank Bike Loan चुकाने के लिए 12 से 60 महीनों का समय मिल जाता है।
आईडीएफसी बैंक से बाइक लोन लेने पर आपको 4 प्रतिशत तक प्रोसेसिंग फीस भी देनी पड़ सकती है।

SBI Two Wheeler Loan Interest Rate 2021

भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) से यदि आप दो पहिया लोन लेना चाहते हैं तो आपको इसके लिए 16.25% से 18.00% तक वार्षिक ब्याज देना होगा।
वही सुपर बाइक के लिए लोन लेने पर न्यूनतम ब्याज दर 10.25 प्रतिशत है।
लोन चुकाने की अवधि साधारण बाइक लोन के लिए 36 महीने व सुपर बाइक लोन के लिए 60 महीने की है।
SBI से बाइक लोन लेने के लिए आवेदनकर्ता की न्यूनतम वार्षिक आय साधारण बाइक लोन के लिए 1.5 लाख रूपए व सुपर बाइक लोन लेने के लिए 2.5 लाख रूपए होनी चाहिए।

Shriram City Finance Bike Loan Interest Rate

श्रीराम सिटी यूनियन फाइनेंस से बाइक लोन 11.5 वार्षिक ब्याज दर से शुरू होता है।
Shriram City Union Finance मोटरसाइकिल की On Road Price पर 100% भी लोन मुहैया कराता है। मगर 100% लोन लेने के लिए इनके नियम व शर्तों को Fullfil करना आवश्यक होता है।
इससे बाइक लोन लेने के लिए न्यूनतम आय 12000 रूपए प्रतिमाह होनी चाहिए।
श्रीराम सिटी यूनियन फाइनेंस से बाइक लोन की अवधि 12 से 36 महीने हैं।

बाइक लोन ब्याज दर को प्रभावित करने वाले कारक (Factors)

आप ने कुछ बैंकों व एनबीएफसी के बाइक लोन ब्याज दर (Bike Loan Interest Rate ) को जान लिया होगा मगर आपको कुछ ऐसे कारकों (factors) के बारे में भी पता होना चाहिए जिनकी वजह से बाइक लोन की ब्याज दर कम या ज्यादा हो सकती है।
बैंक व एनबीएफसी लोन देने से पहले आवेदनकर्ता की प्रोफाइल के कई पहलुओं को जांचता है। जिनके अनुसार ही लोन की ब्याज दर, लोन की प्रोसेसिंग फीस, लोन की रकम तय होती है। बाइक लोन (टू व्हीलर लोन) की ब्याज दर को प्रभावित करने वाले कई कारण हो सकते है। आप इन सभी को ध्यान मे रखकर कम ब्याज दर या सस्ता बाइक लोन ले सकते है।

क्रेडिट स्कोर / सिबिल स्कोर

किसी भी लोन के लिए क्रेडिट स्कोर (सिबिल स्कोर) बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। यहां तक कि लोन मिलना या ना मिलना भी क्रेडिट स्कोर पर निर्भर होता है।
अच्छा क्रेडिट स्कोर होने पर कम ब्याज दर पर लोन मिल जाता हैं। जबकि कम या खराब क्रेडिट स्कोर होने पर अधिक ब्याज दर पर लोन मिलता है।
बाइक लोन (Two Wheeler Loan) के लिए भी अच्छा क्रेडिट स्कोर (750) होना जरूरी होता है। कम ब्याज दर पर लोन लेने के लिए अच्छा सिबिल स्कोर (क्रेडिट स्कोर) होना चाहिए।

आय (Income)

आवेदनकर्ता (लोन लेने वाले व्यक्ति) की मासिक आय भी लोन की ब्याज दर को प्रभावित करती है। कम इनकम होने पर बैंक को लोन का सही समय पर भुगतान ना होने का अधिक रिस्क होता है। जिसके कारण बैंक अधिक ब्याज दर पर लोन देता है।
इसके विपरित अधिक आय होने पर लोन की ब्याज दर व प्रोसेसिंग फीस कम होती है।

Repayment Capacity

बैंक या एनबीएफसी लोन देने से पहले लोन लेने वाले व्यक्ति की लोन रिपेमेंट क्षमता को भी आंकता है। जिसमें कई तरह की बातें सामिल हो सकती है जैसे-
इनकम
बैंक बैलेंस
महीने मे खर्च की जाने वाली रकम
आय के अन्य सोर्स
कोई अन्य लोन आदि
यदि बैंक को लगता है कि उधारकर्ता की Repayment Capacity
सही है तो बैंक कम ब्याज दर पर भी लोन दे सकता है।

लोन की रकम

बाइक लोन (दो पहिया लोन) की ब्याज दर के लिए लोन की रकम भी बहुत महत्वपूर्ण होती है। कोई भी ऋणदाता लोन की रकम के हिसाब से ब्याज दर तय करता है। जैसे स्कूटर, हल्की बाइक या कम किमत वाले दो पहिया वाहनों के लिए ब्याज दर अलग हो सकती है और सुपर बाइक या महंगी बाइको के लिए ब्याज दर अलग हो सकती है।

बैंक / फाइनेंशियल संस्थान से रिलेशनशिप

जब आप बैंक या किसी फाइनेंशियल संस्थान से लिये गये लोन को एकदम सही वक्त पर चुका देते हैं या कहें कि आप लोन के रिपेमेंट में किसी तरह की चुक नही करते हैं तो आप बैंक के एक अच्छे ग्राहक बन जाते हैं। जिससे आपको भविष्य में लेने वाले लोन मे कई तरह के फायदे मिल जाते हैं जैसे-
कम ब्याज दर पर लोन
कम प्रोसेसिंग फीस पर लोन
अधिक रकम का लोन आदि।

लोन की अवधि (Tenure Of Loan)

लोन की अवधि (Loan Tenure) भी लोन के ब्याज को प्रभावित करती है। कम समय (छोटी अवधि) के लिए लिये गये लोन पर कम ब्याज दर रहती है जबकि लंबी अवधि के लोन पर तुलनात्मक अधिक ब्याज दर होती है। बाइक लोन की ब्याज दर भी लोन की अवधि के अनुसार तय होती है।

वाहन का प्रकार (Category Of Vehicle)

दो पहिया लोन की ब्याज दर, बाइक के प्रकार पर भी निर्भर करती है। सामान्य बाइक, स्कूटर के लोन की ब्याज व सुपर बाइक, स्पोर्ट्स बाइक के लोन की ब्याज दर में काफी अंतर होता है।
सुपर बाइक व स्पोर्ट्स बाइक खरीदने के लिए कम ग्राहक होते हैं जिसके कारण सुपर बाइक लोन की ब्याज दर कम होती है।

निवास स्थान ( Residential Area)

किसी विशेष क्षेत्रों के ऊधारकर्ताओ के लिए वहां की लोन रिपेमेंट हिस्ट्री के हिसाब से ब्याज दर कम या ज्यादा हो सकती है। जिस क्षेत्र के उधारकर्ताओ की रिपेमेंट हिस्ट्री अच्छी होती है तो वहां के ऊधारकर्ताओ को कम ब्याज दर पर लोन मिल सकता हैं। इसी प्रकार यदि किसी विशेष क्षेत्र की लोन की रिपेमेंट इतिहास अच्छी नहीं होती है तो वहां लोन की ब्याज दर अधिक होती है। बाइक लोन की ब्याज दर भी Residential Area के अनुसार तय होती है।

बाइक लोन लेते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए

जब भी आप बाइक खरीदने के लिए लोन लें तो आपको कई बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। जिससे किसी भी नुकसान से बचा जा सके
• सबसे पहले आपको पता होना चाहिए कि आप कौन सी बाइक के लिए लोन लें रहें हैं। और उसकी Ex Showroom Price व On Road Price कितनी है।
• आप कई बैंक व एनबीएफसी से बाइक लोन के बारे में जानकारी इकट्ठा कर सकते है। जिसके बाद आपको जहां से किफायती दरों पर लोन मिले वहीं से लोन लें।
• बैंकों के सभी नियम व शर्तों को ध्यान से पढ़ लें या बैंक के कर्मचारी से सभी के बारे में जान लें।
• बैंकों व एनबीएफसी के बहुत से छुपे हुए शुल्क (Hidden Charge) भी होते हैं जिनकी जानकारी आपको सामान्यतः नही होती है। इसलिए आप बैंक से पहले ही कंफर्म कर लें कि कौन-कौन से Hidden Charge है जो लोन के दौरान लगाए जा सकते हैं।
ब्याज दर व प्रोसेसिंग फीस के अलावा और भी कई तरह के शुल्क या पेनल्टी होती है जैसे-
Late Payment Charge
Documentation Charge
Foreclosure Charge
Pre Payment Charge
Cheque Bounce Charge
RC Collection Charge
NOC / Duplicate NOC Charge
Loan Rebooking/Reschedulement Charge.

इनके अलावा और भी शुल्क (Charge) हो सकते हैं आपको इन सभी के बारे में जानकारी होना चाहिए। क्योंकि इनके कारण आपको बहुत ज्यादा नुकसान हो सकता है।
• बहुत से बैंक व एनबीएफसी में बाइक लोन की प्रोसेसिंग फीस बहुत ज्यादा भी हो सकती है इसलिए आपको प्रोसेसिंग फीस का भी ध्यान रखना चाहिए।
• कई बार बाइक लोन जीरो डाउन पेमेंट पर भी मिलता है। मगर आपको पता होना चाहिए कि जीरो डाउन पेमेंट बाइक लोन लेने पर आपको अधिक रकम पर ब्याज देना होगा इसलिए कोशिश करें कि आप कुछ डाउन पेमेंट करके ही बाइक लोन लें।
लोन की अवधि का भी ध्यान रखना चाहिए क्योंकि लोन की अवधि ही तय करती है कि कितनी रकम की ईएमआई व कितनी महीनों की ईएमआई होगी।
• आपके मन में बाइक लोन से संबंधित जो सवाल हो उन्हें बैंक के कर्मचारी / लोन एजेंट से जरूर पूछें।

Disclaimer / अस्वीकरण

नोट: हमारे द्वारा बताई गई जानकारी का उद्देश्य किसी भी बैंक या फाइनेंस कंपनी को अच्छा बताकर वहां से लोन लेने को बढ़ावा देना नहीं है।
बैंक व अन्य फाइनेंशियल कंपनी की ब्याज दरें हमारे द्वारा बताई गई जानकारी से अलग हो सकती है। अनेको कारणों से ऐसा संभव हो सकता है।
जब भी आप लोन के लिए अप्लाई करते हैं तो आप बैंक से ब्याज दर व अन्य सभी जरूरी बातों के बारे में जरूर जान लें।

इस पोस्ट मे आपने बाइक लोन की ब्याज दर व प्रोसेसिंग फीस के बारे में जाना हैं साथ ही कुछ ऐसे कारण जो बाइक लोन की ब्याज दर को प्रभावित करते हैं। इनके अलावा कुछ ध्यान रखने योग्य जरूरी बातें जो आपको जरूर मालूम होनी चाहिए। यदि आपको हमारे द्वारा बताई गई जानकारी अच्छी लगी हैं तो आप इस पोस्ट को शेयर करना ना भूलें।

यदि आपका कोई सवाल/सुझाव हैं तो आप हमे कमेंट्स कर सकते हैं।
आप हमारे फेसबुक पेज टेलीग्राम चेनल को भी ज्वाइन करें जहां हम नियमित रूप से लोन व फाइनेंस से संबंधित जानकारी शेयर करते हैं। इस पोस्ट में सिर्फ इतना ही, धन्यवाद

इन्हें भी पढ़ें-

किस्तों पर बाइक कैसे ले | Emi Pe Bike Kaise Le | Bike Loan Details In Hindi

जानिए कार लोन इंटरेस्ट रेट सभी बैंकों का | सबसे सस्ता कार लोन कौनसा बैंक देता है

एचडीएफसी बैंक से पर्सनल से लोन कैसे मिलेगा | HDFC पर्सनल लोन कैसे लें

Leave a Reply