CIBIL Score Kya Hai: यदि आप सिबिल स्कोर व क्रेडिट स्कोर के बारे मे जानना चाहते हैं तो आप इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें। हमनें इस आर्टिकल मे सिबिल स्कोर से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए हैं। सिबिल स्कोर की वजह से आपको कोई दिक्कत ना आए इसलिए आपको इसकी जानकारी जरूर होनी चाहिए। सभी तरह के लोन व क्रेडिट कार्ड लेने के लिए सिबिल स्कोर को जांचा जाता हैं। सिबिल स्कोर की वजह से बहुत से लोग लोन व क्रेडिट कार्ड से वंचित रह जाते हैं। और जानकारी के अभाव में अपने सिबिल स्कोर को सही नहीं कर पाते हैं। हमनें सिबिल स्कोर के ख़राब होने के कारण, सिबिल स्कोर को ठीक कैसे किया जाता है, सिबिल स्कोर खराब होने के परिणाम क्या होंगे आदि सवालो के जवाब इस पोस्ट मे दिये है। इन सब की जानकारी होना आपके लिए भी बहुत जरूरी है। आइये समझते हैं सिबिल स्कोर के बारे में।

Cibil score kaise thik karen, cibil score kya hota hai, सिबिल स्कोर कैसे ठीक करें, सिबिल स्कोर कैसे चेक करें
Cibil Score Kya Hota Hain
इस पोस्ट में आप पढ़ सकते हैं छुपाएं

सिबिल स्कोर क्या होता हैं?

सिबिल स्कोर आपके क्रेडिट कार्ड या लोन की रीपेमेंट की संभावना को दर्शाता है। यह बैंकों के बहुत काम आता है साथ ही यह हर व्यक्ति के लिए भी बहुत जरूरी होता है। क्योंकि सिबिल स्कोर के आधार पर ही लोन व क्रेडिट कार्ड मिलता है व इनका ब्याज व रूपये की लिमिट भी सिबिल स्कोर के आधार पर ही तय होता है। कभी भी आपको वित्तीय सहायता की आवश्यकता पड़ सकती है। इसलिए आपको अपना सिबिल स्कोर अच्छा बनाये रखना चाहिए।

सिबिल स्कोर कौन तय करता है?

CIBIL हर क्रेडिट कार्ड होल्डर व लोन लेने वाले व्यक्ति की क्रेडिट हिस्ट्री का रिकार्ड रखता है। हर वित्तीय संस्थान व बैंक लोन लेने वाले व्यक्ति का डाटा CIBIL के साथ शेयर करते हैं। जिसे यह अपने एल्गोरिथम का इस्तेमाल कर एक स्कोर मे बदल देता है। साथ ही उसका रिकॉर्ड भी अपने पास रखता है। जब कभी बैंक को इसकी आवश्यकता होती है तो वह उस व्यक्ति का डाटा CIBIL से लें सकते है। जिसकी सहायता से बैंक व वित्तीय संस्थान नुकसान से बच सके।

सिबिल स्कोर का मतलब क्या होता है?

CIBIL (Credit Information Bureau Of India Limited) क्रेडिट हिस्ट्री को दर्शाने के लिए बनाया गया है। जब हम अपनी फाइनेंशियल जरूरतों को पूरा करने के लिए किसी बैंक या नान बैंकिंग वित्तीय संस्थान (Non Banking Financial Company) से लोन के रूप में पैसे लेते हैं। बैंक या NBFC से लिए गए लोन को हमें किस्तों के रूप में चुकाना पड़ता हैं। या बैंक के बनाये गये नियमों के अनुरूप ही रकम को चुकाना पड़ता है। लोन को चुकाने के अंतराल में हमारे रीपेमेंट करने को हिस्ट्री, लोन लेने की हिस्ट्री को ही क्रेडिट स्कोर का रूप दे दिया जाता हैं। बैंक आपके क्रेडिट स्कोर से ही आपके लोन चुकाने की हिस्ट्री का पता लगाते हैं। जिससे उन्हे लगता है कि यह लोन को सही वक्त पर चुका पाएगा या नहीं।

इसे भी पढ़ें- Home Credit Se Personal Loan Kaise Le | Home Credit Loan Apply Kaise Kare

सिबिल स्कोर और क्रेडिट स्कोर के बीच क्या अंतर है?

बहुत से लोगों के मन मे एक सवाल उठता है कि सिबिल स्कोर व क्रेडिट स्कोर मे कोई अंतर है या नहीं। मैं आपको बताना चाहूंगा कि सिबिल स्कोर व क्रेडिट स्कोर मे कोई अंतर नहीं होता है। सिबिल स्कोर को ही क्रेडिट स्कोर के नाम से जाना जाता है। बहुत से लोग क्रेडिट स्कोर को केवल क्रेडिट कार्ड से जोड़ देते हैं। और व क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल से ही क्रेडिट स्कोर को प्रभावित होना मानते हैं मगर ऐसा नहीं है क्रेडिट स्कोर व सिबिल स्कोर का मतलब एक ही होता है।

सिबिल स्कोर कितना होता है?

सिबिल स्कोर 300 से 900 के बीच दर्शाया जाता है। सबसे खराब सिबिल स्कोर को 300 नंबर की ग्रेड दी जाती है जबकि सबसे अच्छा क्रेडिट स्कोर 900 होता है। क्रेडिट स्कोर कई बातों पर निर्भर करता है यह आपके क्रेडिट कार्ड व लोन जैसे वित्तीय लेनदेन के आधार पर तय होता है। यदि आप अपने लोन व क्रेडिट कार्ड का भुगतान सही समय पर करते हैं तो आपका सिबिल स्कोर अच्छा होता है और यदि आप लोन व क्रेडिट कार्ड के भुगतान मे किसी प्रकार की कोई चूक करते हैं तो आपका सिबिल स्कोर खराब होता जाता है।

लोन के लिए क्रेडिट स्कोर कितना होना चाहिए?

लोन लेते समय आपका सिबिल स्कोर (क्रेडिट स्कोर) बहुत काम आता है। क्रेडिट स्कोर से ही आपको लोन मिलना या ना मिलना तय होता है। खराब क्रेडिट स्कोर रहते आपको लोन या अन्य वित्तीय सुविधाओं का मिलना बहुत मुश्किल होता है। यदि आप सस्ते ब्याज दर व कम प्रोसेसिंग फीस पर अधिक लोन लेना चाहते हैं तो आपको अपना सिबिल स्कोर बहुत अच्छा रखना होगा। सिबिल स्कोर लोन व क्रेडिट कार्ड लेते समय बहुत काम आता है। सिबिल स्कोर को तीन केटेगरी में बांटा गया है जो इस प्रकार है-

300 – 549
Poor CIBIL Score

550 – 700
Fair CIBIL Score

701 – 900
Very Good CIBIL Score

अच्छे सिबिल स्कोर से आपको कई फायदें मिल सकते है। जैसे कम ब्याज दर पर लोन, कम प्रोसेसिंग फीस पर लोन, व अधिक रकम का लोन ये सभी फायदे 750 से ऊपर सिबिल स्कोर होने पर ही मिल सकते हैं। सिबिल स्कोर के बाद भी लोन देना या ना देना पूर्णतः बैंक पर ही निर्भर होता है।

यदि आपने कभी लोन या क्रेडिट कार्ड नही लिया है तो सिबिल स्कोर कितना होगा?

यह बात जानना आपके लिए बहुत जरूरी हो सकती है। कि जब आपने अभी तक कोई लोन या क्रेडिट कार्ड नही लिया है तो आपका सिबिल स्कोर कितना होगा। यदि आपने अभी तक कोई लोन या क्रेडिट कार्ड नही लिया है तो आपका सिबिल स्कोर N/A (Not Available) या N/H (No History) दिखाई देगा। इसका मतलब है कि आपकी कोई भी क्रेडिट हिस्ट्री नहीं है। या आपकी सिबिल स्कोर का कोई भी डाटा उपलब्ध नहीं है। आपकी सिबिल स्कोर कभी भी जीरो नहीं होता है। यह हमेशा 300 से 900 के बीच ही होता हैं।

सिबिल स्कोर कैसे चेक किया जाता है?

सिबिल स्कोर को चेक करने के लिए आप क्रेडिट स्कोर का डाटा स्टोर करने वाली वेबसाइट पर जाकर अपना अकाउंट बनाकर क्रेडिट स्कोर चेक कर सकते हैं। इसके आप इनकी आफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा
CIBIL
EQUIFAX
CRIF HIGH MARK
EXPERIAN

ये सभी वेबसाइट RBI से रजिस्ट्रर्ड हैं। कुछ वेबसाइट क्रेडिट स्कोर चेक करने के लिए पैसे भी लेती हैं जबकि कुछ वेबसाइट पर आप फ्री मे भी क्रेडिट स्कोर चेक कर सकते हैं। क्रेडिट स्कोर चेक करने के लिए पेनकार्ड बहुत जरूरी होता हैं सभी वेबसाइट पेनकार्ड नंबर के जरिए ही आपका क्रेडिट स्कोर बताती है। इनके अलावा और भी बहुत सी अन्य वेबसाइट भी है जिनसे सिबिल स्कोर चेक किया जा सकता हैं। जैसे
Paisabazaar
Bajajfinserv
Bankbazaar
Myloancare
और भी बहुत सी वेबसाइट है जो सिबिल स्कोर बताती है। ये सभी साइट, सिबिल स्कोर का डाटा रखने वाली साइट से ही डाटा लेकर आपका सिबिल स्कोर बताती है।

सिबिल स्कोर खराब होने के कारण क्या हैं?

सिबिल स्कोर का खराब होना कई बातों पर निर्भर करता है। कुछ मुख्य कारण ये है जिन से आपका सिबिल स्कोर बहुत ज्यादा प्रभावित होता हैं-
• अपने क्रेडिट कार्ड का भुगतान सही समय पर ना करना।
• लिये हुए लोन को सही समय पर ना चुकाना।
• एक साथ कई क्रेडिट कार्ड रखने से भी क्रेडिट स्कोर खराब होने का खतरा ज्यादा होता है क्योंकि इसमे आप कई बार चूक कर देते हैं कि कौन से क्रेडिट कार्ड के भुगतान की डयू डेट खत्म हो गई है।
• एक साथ कई लोन लेना भी क्रेडिट स्कोर को खराब करता है।
• एक साथ कई लोन लेने पर लोन को चुकाने मे चूक हो जाती है जिसके कारण सिबिल स्कोर खराब हो जाता है।
• ज्यादा रकम का लोन लेना भी आपके सिबिल स्कोर को खराब कर सकता है क्योंकि ज्यादा रकम का लोन चुकाने मे अधिक समय व अधिक ईएमआई बनती है जिसके भुगतान मे दिक्कतें आ सकती है।
• किसी दूसरे व्यक्ति के लिए गारंटर बनना भी क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करता है। जब आप किसी अन्य व्यक्ति को लोन दिलाने के लिए गारंटर बनते हैं और वह व्यक्ति लोन सही समय पर नही चुकाता है तो इसका असर आपके सिबिल स्कोर पर भी पड़ता है।
• आनलाइन ईएमआई पर सामान खरीदने पर हम ईएमआई को बहुत हल्के मे ले जाते हैं और ईएमआई चुकाने मे लापरवाही कर देते हैं मगर इसका नाकारात्मक प्रभाव हमारे सिबिल स्कोर पर पड़ता है।

सिविल स्कोर खराब होने पर क्या करना चाहिए?

यदि आपका सिबिल स्कोर खराब हो गया है। जिसे आप दोबारा से ठीक करना चाहते हैं। तो आपको ये काम करने होंगे जिनकी सहायता से आप अपना सिबिल स्कोर ठीक कर सकते हैं।
• सबसे पहले अपने बकाया लोन का भुगतान समय रहते करे दें। आप लोन को चुकाने मे जितनी देरी करेंगे आपका सिबिल स्कोर भी उतना ही ज्यादा खराब हो सकता है। इसलिए अपने बकाया लोन का भुगतान जल्द से जल्द करें।
• यदि आपने एक ही समय पर दो या अधिक लोन ले रखें है तो उन्हें जल्द से जल्द खत्म करें।
अन्य लोन लेने से बचें। खराब सिबिल स्कोर के रहते हुए आप दूसरे लोन लेने से बचना चाहिए। क्योंकि इससे आपको एक तो अधिक ब्याज दर पर लोन मिलेगा दूसरा आपका स्कोर और भी ज्यादा खराब हो सकता है।

इसे भी पढ़ें- ICICI Bank HPCL Super Saver Credit Card Kya Hai

खराब सिबिल स्कोर को कैसे ठीक करें?

यदि आपका सिबिल स्कोर खराब हो गया है। और आप उसे ठीक करना चाहते हैं। मगर आप यह नहीं जानते कि सिबिल स्कोर कैसे ठीक होगा। आप अपने सिबिल स्कोर को ठीक करने के लिए सबसे पहले तो ऊपर बताए सिबिल स्कोर को खराब करने वाले कारणों पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान दे। और कोशिश करें कि ऐसा आगे कभी ना हो। जिससे आपका सिबिल स्कोर और ज्यादा खराब ना हो। मैं आपको सिबिल स्कोर को ठीक करने के कुछ उपाय या टिप्स बताना चाहूंगा जिन्हें अपनाकर आप अपना सिबिल स्कोर ठीक कर सकते हैं।

कम रकम का लोन लें:

खराब सिबिल स्कोर होने पर कम रकम का लोन लेकर उसे तय समय पर चुकाने पर सिबिल स्कोर मे इजाफा हो सकता है।

छोटी अवधि के लिए लोन लें:

जब आप छोटी अवधि के लिए लोन लेते हैं और उसे सही समय पर चुका देते हैं तो यह आपके सिबिल स्कोर के लिए बहुत फायदेमंद साबित होता हैं। इसके लिए आप ज्यादा रकम का लोन कम अवधि के लिए बिल्कुल भी ना लें। आप कम रकम व कम अवधि के लिए ही लोन लें।

अनसिक्योर्ड लोन के बजाय सिक्योर्ड लोन लें

जब आप अनसिक्योर्ड लोन लेते हैं तो इससे भी सिबिल स्कोर पर बुरा असर पड़ता है। सिक्योर्ड लोन लेने पर सिबिल स्कोर मे बढ़ोत्तरी होती है। सिक्योर्ड लोन हमेशा ही सिबिल स्कोर के लिए अच्छा होता है।

क्रेडिट कार्ड को Avoid करें

यदि आपने कोई क्रेडिट कार्ड नही लिया है तो आप क्रेडिट कार्ड को लेने के बारे मे सोचों भी मत क्योंकि क्रेडिट कार्ड आपके सिबिल स्कोर पर नाकारात्मक प्रभाव डालता है। यदि आप क्रेडिट कार्ड का भुगतान सही समय पर करते हैं तो इससे आपके सिबिल स्कोर को ज्यादा फायदा नहीं होता है। लेकिन आप क्रेडिट कार्ड के भुगतान में कोई चूक कर देते हैं तो यह आपके सिबिल स्कोर को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाता है।

इसे भी पढ़ें- Credit Card Kya Hota Hai, Iske Fayde Or Nuksan Kya Hai

अच्छे व्यक्ति के लिए गारंटर बनें:

जब आप किसी व्यक्ति को लोन दिलाने के लिए गारंटर बनते हैं तो इससे आपका सिबिल स्कोर भी प्रभावित होता हैं। आप कोशिश करे कि आप ऐसे व्यक्ति के लिए गारंटर बनें जो सही से लोन चुका सकें।

हर बार एक ही तरह का लोन न लें

बार बार एक ही तरह का लोन लेना भी आपके सिबिल स्कोर को खराब करता है क्योंकि इससे यह संदेश जाता है कि आप किसी एक कार्य के लिए हमेशा लोन पर निर्भर रहते हैं। इसलिए आप या तो लोन न ले या अलग तरह का लोन ले जैसे आपने पहले पर्शनल लोन लिया था तो अब आप आटो लोन ले सकते हैं या फिर कोई अन्य लोन।

एक बार मे सिर्फ एक ही लोन लें

जब आप एक ही समय पर कई लोन लेते हैं तो ऐसा करने से आपके ऊपर लोन चुकाने का अधिक दबाव आ जाता हैं जिससे आपको किसी लोन की किस्त चुकाने मे परेशानी आ सकती हैं। जिसके कारण आपका सिबिल स्कोर सही नहीं हो पाता है आप कोशिश करे कि एक समय मे एक ही लोन लें।

क्रेडिट स्कोर कितने दिन में अपडेट होता है?

सामान्यतः क्रेडिट स्कोर या सिबिल स्कोर हर तीन माह मे अपडेट होता है। मगर आपका सिबिल स्कोर किसी वजह से खराब हो गया है तो उसे सुधरने मे एक फाइनेंशियल ईयर (एक साल) का समय लग सकता है। वो भी तब जब आप अपने सभी लोन को समय पर भरते हैं। यदि आप अपने बकाया लोन को समय पर नही चुकाते हैं तो आपके सिबिल स्कोर को सुधरने मे काफी समय लग सकता है। बल्कि आपका सिबिल स्कोर और भी डाउन हो सकता है।

क्रेडिट कार्ड का पेमेंट नहीं किया तो क्या होगा?

यदि आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं। जिसकी बकाया रकम आपने जमा नहीं की है। तो आप उसे समय रहते भर दें। एक बार क्रेडिट कार्ड के पेमेंट की डयू डेट निकल जाने पर आपके सिबिल स्कोर (क्रेडिट स्कोर) पर नाकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इससे आपको दोहरा नुकसान उठाना पड़ सकता हैं एक तो क्रेडिट कार्ड की पेमेंट पर आपको पेनाल्टी चुकानी होगी दूसरा आपका सिबिल स्कोर बहुत कम हो सकता है जिसके कारण आपको भविष्य में लोन या क्रेडिट कार्ड जैसी सुविधाओं के लिए पापड़ बेलने पड़ सकते हैं।

सिबिल में कंप्लेंट कैसे करें?

कई बार आपका सिबिल स्कोर बिना गलती के भी खराब हो जाता हैं ऐसी स्थिति में आप अपना सिबिल स्कोर चेक करें यदि आपने वास्तव मे कोई चूक नही की है तो आप CIBIL Score सही करने हेतू एक आवेदन फार्म भर सकते हैं। इसे आप आनलाइन भी भर सकते हैं। यदि आपका लोन व क्रेडिट कार्ड की लेनदेन मे कोई गड़बड़ी नही पाई जाती है तो आपका सिबिल स्कोर सही कर दिया जाता हैं। इसे अपडेट होने मे लगभग तीन महीने का समय लग सकता है। आप तीन महीने बाद फिर से अपना क्रेडिट स्कोर चेक कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड लोन न चुकाने पर क्या होता है?

क्रेडिट कार्ड का भुगतान ना करने पर भी आपके सिबिल स्कोर पर नाकारात्मक प्रभाव पड़ता है। क्योंकि क्रेडिट कार्ड भी आपके लोन की तरह ही कार्य करता है। जब आप क्रेडिट कार्ड का भुगतान सही तरह से नही करते हैं तो आपका सिबिल स्कोर बहुत डाउन हो सकता है। इसलिए अपने क्रेडिट कार्ड का भुगतान को सही समय पर करें। और अपने सिबिल स्कोर को खराब होने से बचाए रखें। क्रेडिट कार्ड का भुगतान सही समय पर ना करने पर आपको भविष्य मे लोन लेने मे बहुत दिक्कत हो सकती हैं। क्रेडिट कार्ड से भी आपका सिबिल स्कोर प्रभावित होता है। और एक बार क्रेडिट स्कोर खराब हो जाता है उसे फिर से सुधारने मे बहुत समय लग सकता है।

इस पोस्ट मे हमनें सिबिल स्कोर (क्रेडिट स्कोर) के बारे में विस्तार से बताया है। यदि आपके पास कोई और सवाल है तो हमें कमेंट करके बताए। हम अपने ब्लाग पर फाइनेंस, क्रेडिट कार्ड, लोन, इंस्योरेंस से संबंधित आर्टिकल शेयर करते हैं। आप हमारे फेसबुक पेजटेलीग्राम चेनल से भी जुड़ सकते हैं जहां हम नियमित रूप से जानकारी शेयर करते रहते हैं। इस पोस्ट मे बस इतना ही। धन्यवाद

इन्हे भी पढ़ें-

जीरो डाउन पेमेंट बाइक लोन कैसे लें | Zero Down Payment Bike Loan Kya Hota Hain

किस्तों पर बाइक कैसे ले | Emi Pe Bike Kaise Le | Bike Loan Details In Hindi

Smart Coin Personal Loan App Se Instant Loan Kaise Milta Hai, App Review

Fair Money Loan App Review, Fair Money Se Personal Loan Kaise Le

Leave a Reply