दोस्तों आज हम बात करेंगे क्रेडिट कार्ड के बारे में, जानेंगे क्रेडिट कार्ड क्या होता हैक्रेडिट कार्ड कैसे लिया जाता है, क्रेडिट कार्ड के क्या फायदे हैं और क्या नुकसान है तथा कौन सा क्रेडिट कार्ड आपके लिए फायदेमंद रहेगा
दोस्तों जब आपको पैसे की अचानक जरूरत होती हैं और आपको कही से पैसे नही मिल पाते हैं तो ऐसे समय मे आपके लिए क्रेडिट कार्ड बहुत काम आ सकता है। क्रैडिट कार्ड एक प्रकार का लोन ही है। मगर इसकी एक लिमिट होती है कि आप केवल इस लिमिट तक हर महीने खर्च कर सकते हैं। तो चलिए समझते हैं क्रेडिट कार्ड के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी।

Credit Card Kya Hota Hai, क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं, Credit Card Ke Kya Fayde Hai, Credit Card Ke Kya Nuksan Hai
Credit Card Kya Hota Hai

क्रेडिट कार्ड क्या होता

क्रेडिट कार्ड भी एटीएम या डेबिट कार्ड की तरह ही एक कार्ड होता है मगर इसका इस्तेमाल एटीएम कार्ड या डेबिट कार्ड से थोडा अलग होता है। डेबिट कार्ड से आप उतने पैसे निकाल सकते हैं जितने पैसे आपके अकाउंट में हैं जबकि क्रैडिट कार्ड से आप उतने पैसे व्यय कर सकते हैं जितनी आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट होती हैं। सभी क्रेडिट कार्ड की एक मासिक लिमिट होती हैं। आप उसकी लिमिट के हिसाब से क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड कौन ले सकता है?

क्रेडिट कार्ड लेने के लिए आपका कोई इनकम सोर्स होना चाहिए जिससे आप हर महीने अपने क्रेडिट कार्ड द्वारा ख़र्च किये गये पैसे को वापिस भर सके। यदि आप कोई नौकरी करते जहां से आपको अच्छी सैलरी मिलती है या आपका कोई बिजनेस है जिससे आप हर महीने एक अच्छा अमाउंट कमा लेते हैं तो आपको क्रेडिट कार्ड बडी आसानी से मिल जाएगा। क्रेडिट कार्ड को आप किसी बैंक या किसी वित्तीय संस्थान से भी ले सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड कैसे लिया जा सकता है?

क्रेडिट कार्ड लेने के दो तरीके होते हैं एक आप इसे आनलाइन अप्लाई कर सकते हैं या फिर आप इसे किसी बैंक मे जाकर भी अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको जिस बैंक का क्रेडिट कार्ड लेना है उस बैंक की वेबसाइट पर जाकर क्रेडिट कार्ड का फार्म फील कर सकते हैं। या फिर आप सीधे बैंक मे जाकर आफलाइन अप्लाई कर सकते हैं। क्रेडिट कार्ड अप्रुव होने के बाद यह आपको मिल जाएगा। आजकल बहुत सी वित्तीय संस्थान है जो क्रेडिट कार्ड जारी करती हैं आप चाहें तो वहां से भी क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं।

भारत मे कितने प्रकार के क्रेडिट कार्ड होते हैं?

क्रेडिट कार्ड लेने से पहले ये जान लेना बेहद जरूरी है कि आपके लिए कौन सा क्रेडिट कार्ड अच्छा रहेगा। भारत मे लगभग पन्द्रह तरह के क्रेडिट कार्ड जारी किये जाते हैं। इसलिए आपको जरूर पता होना चाहिए कि कौन सा क्रेडिट कार्ड आपके लिए सही रहेगा। मैं आपको कुछ ज्यादा यूज होने वाले क्रेडिट के बारे मे जानकारी देता है क्रेडिट कार्ड के निम्न प्रकार होते हैं
1. बेसिक क्रेडिट कार्ड: यह क्रेडिट कार्ड उन लोगो के लिए फायदेमंद रहता है जो पहली बार क्रेडिट कार्ड लेना चाहते हैं। आमतौर पर इनकी सालाना फीस कम होती है। मगर इस कार्ड को लेने से आपको Online Shopping या Payment करने पर Cashbacks या Reward Points बहुत कम मिलते।
2. ट्रेवल क्रेडिट कार्ड: यह कार्ड उन लोगो के लिए फायदेमंद रहता है जो लोग घूमने फिरने का सौक रखते हैं या उन्हें किसी काम के लिए ज्यादा ट्रेवल करना पडता हैं। ऐसे मे यदि आप ट्रेवल क्रेडिट कार्ड लेते है और इससे ट्रेवल टिकट बुक करते हैं तो आपको इसमे बहुत अच्छे आॅफर और कैशबैक मिल जाते हैं। इससे आप हवाई जहाज टिकट, रेल टिकट, बस टिकट, कैब बुक कर सकते हैं।
3. फ्यूल क्रेडिट कार्ड: ये कार्ड उन लोगों के लिए ठीक रहते हैं जिन्हें अपनी गाड़ी से आना जाना ज्यादा होता क्योंकि इन क्रेडिट कार्डो से पैट्रोल, डीजल लेने पर छूट मिल जाती है। बहुत से पेट्रोल पंप नये नये आॅफर निकालते रहते हैं जो ज्यादातर क्रेडिट कार्ड धारकों के लिए होते हैं। इसलिए यदि आप का भी फ्यूल पर ज्यादा खर्च होता है तो आप इस क्रेडिट कार्ड का यूज कर सकते हैं। इससे फ्यूल भरवाने पर आपको फ्यूल पर लगने वाले सर चार्ज की भी छूट मिल जाती है।
4. रिवार्ड्स क्रेडिट कार्ड: इन क्रेडिट कार्ड से ट्रांजेक्शन या पेमेंट करने पर सामान्य से अधिक रिवार्ड्स पांइट मिलते हैं। यदि आप भी ज्यादा रिवार्ड्स पांइट या कैशबैक पाना चाहते हैं तो आप इस क्रेडिट कार्ड को ले सकते हैं। मगर इसकी सालाना शुल्क कुछ ज्यादा होती है।
5. शाॅपिंग क्रेडिट कार्ड: ये कार्ड आमतौर पर लाइफस्टाइल, कपड़े, जूते, आदि वस्तुओं की खरीददारी करने के लिए अच्छे होते हैं। इन कार्डों से इस तरह की शाॅपिंग करने पर अच्छे रिवार्ड्स पांइट व कैशबैक मिलता हैं। यदि आप भी इस तरह की शाॅपिंग करते हैं तो आपके लिए ये क्रेडिट कार्ड फायदेमंद रहेगा।
6. सेक्योर्ड क्रेडिट कार्ड: ये क्रेडिट कार्ड आपकी फिक्स डिपॉजिट पर मिलता हैं। आप इसकी लिमिट तक कहीं भी बाकी क्रेडिट कार्ड की तरह भुगतान कर सकते हैं और आपकी फिक्स डिपॉजिट पर ब्याज बराबर मिलता रहता है।
इन क्रेडिट कार्ड के अलावा भी बहुत से क्रेडिट कार्ड होते हैं जिनपर अलग अलग तरह के आॅफर मिलते हैं। इन क्रेडिट कार्डो के नाम नीचें दिये गये हैं
Grocery Credit Card
Entertainment Credit Card
Co-Branded Credit Card
Cashback Credit Card
Student Credit Card
Business Credit Card
Balance Transfer Credit Card
Premium Credit Card
Kisan Credit Card

क्रैडिट कार्ड पर कितना शुल्क लगता हैं?

क्रेडिट कार्ड लेने से पहले सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि कौन से क्रेडिट कार्ड पर कितना शुल्क लगता है और इसपर कितना ब्याज देना होगा। अलग अलग क्रेडिट कार्ड पर अलग अलग शुल्क लगता है। इसलिए आप क्रेडिट कार्ड लेने से पहले उसके शुल्क के बारे मे सुनिश्चित जरुर कर ले।

क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कैसे करें?

इसमें कोई संदेह नहीं है कि जब आपने क्रेडिट कार्ड ले लिया है तो आप उसे इस्तेमाल करेंगे या नहीं। आप जरूर इसे इस्तेमाल करेंगे। मगर आपको मालूम होना चाहिए कि क्रेडिट कार्ड को आप किस काम के लिए और कहां इस्तेमाल करें। आप क्रेडिट कार्ड की लिमिट तक इसे कहीं सोपिंग करने मे या कहीं पेमेंट करने में, या एटीएम मशीन से पैसे निकालने मे इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि क्रेडिट कार्ड द्वारा एटीएम मशीन से पैसे निकालने पर आपको अतिरिक्त चार्ज भी चुकाना पड़ेगा। इसलिए आप इसका इस्तेमाल कैस निकालने मे ना करे तो फायदेमंद रहेगा।

क्रेडिट कार्ड की लिमिट कितनी होती है?

जब बैंक आपको क्रेडिट कार्ड देता है तो बैंक आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट पहले ही फिक्स करके देता है मतलब आप उस लिमिट तक उसे यूज कर सकते हैं। इसकी लिमिट न्यूनतम 10000 हजार रुपए और अधिकतम 3 लाख रूपए के बीच कुछ भी हो सकती हैं। आप अपने ख़र्च के हिसाब से अपने क्रेडिट कार्ड की लिमिट चुन सकते हैं। यदि आपकी अपने क्रेडिट कार्ड के पैसे को जमा करने की हिस्ट्री अच्छी है। अपने कार्ड का बिल भुगतान समय से करते हैं तो आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ भी सकती हैं। इसके लिए आपको अपने क्रेडिट कार्ड से ख़र्च किये गये पैसे और उसका ब्याज व शुल्क समय से भरना होता हैं।

क्रेडिट कार्ड के क्या क्या फायदें हैं?

क्रेडिट कार्ड के बहुत से फायदे होते हैं अगर इसके फायदें की बात करे तो इसके फायदे निम्न हो सकते हैं।
1. यह हमे इमरजेंसी में कैश मुहैया कराता है। इमरजेंसी मे आपको एकदम पैसे की जरूरत पड सकती है जिसे क्रेडिट कार्ड पूरा कर सकता हैं।
2. इसे इस्तेमाल करना बहुत आसान है। इसका इस्तेमाल बिल्कुल एटीम कार्ड या डेबिट कार्ड की तरह ही होता है। इसलिए इसे आप कहीं भी यूज कर सकते हैं।
3. इसका तीसरा फायदा ये है कि जब आप इससे कही Shopping करते हैं या कही पेमेंट करते हैं तो इसमे आपको कुछ Reward Points मिलते हैं। जिन्हें आप Redeem कर सकते हैं।
4. क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर बहुत सी कंपनियां पेमेंट मे छूट भी देती है। जिससे आपको कुछ पैसे की बचत हो जाती है।

क्रेडिट कार्ड के क्या क्या नुक़सान है?

क्रेडिट कार्ड के बहुत से नुकसान भी होते हैं इसके नुकसान कुछ इस तरह है।
1. इसका सबसे बड़ा नुक़सान ये है कि जब आप इसका बिल समय पर नहीं भरते हैं या इसके डयू डेट के बाद बिल जमा करते हैं तो आपको अचछी खासी पेनाल्टी लग जाती है।
2. दूसरा नुकसान इसका ये हैं जब आप क्रेडिट कार्ड द्वारा एटीएम मशीन से पैसे निकालते हैं तो इसका कुछ चार्ज लग जाता है और यह चार्ज जब तक लगता जाता है जब तक आप उसे जमा नही कर देते।
3. इसे आप केवल खरीददारी या पेमेंट करने के लिए ही इस्तेमाल कर सकते हैं क्योकि इससे कैस निकालना बहुत महगा पडता हैं।
4. यदि आपका क्रेडिट कार्ड गुम हो जाता है और कोई आपके क्रेडिट कार्ड से इंटरनेशनल ट्रांजेक्शन करता है तब इसका आपको कोई OTP नही आता है क्योकि इसमे नेशनल पेमेंट के लिए OTP आता है इसलिए इसे खो जाने पर इसका गलत इस्तेमाल हो सकता हैं।
5. क्रैडिट कार्ड लेने के बाद देखा गया है कि इससे फिजुल खर्चे ज्यादा होते हैं क्योंकि इससे लगता है कि इसका बिल तो एक महीने बाद भरना है इसलिए लोग इससे खरीददारी ज्यादा कर लेते है।

क्रेडिट कार्ड का बिल कैसा होता है?

यदि आपने क्रेडिट कार्ड से खरीददारी की है तो इसका आपको बिल भी चुकाना होता है। जब हम कहीं पेमेंट करते हैं या खरीददारी करते हैं तो इसका बिल जेनरेट होता हैं जिसको भरना का समय 30 दिन से लेकर 50 दिन तक हो सकता हैं। अलग अलग क्रेडिट कार्ड के बिल जमा करने की अवधि कम या ज्यादा होती है। क्रेडिट का बिल आप अपने नेटबैकिंग अकाउंट में भी देख सकते हैं। और बिल की हार्ड कापी आपके स्थायी पता जो आपने बैक मे दिया है उप पर भी आ जाती है। जिसपर हर ट्रांजैक्शन की डिटेल होती हैं। और सभी चार्ज का ब्योरा होता है व बिल जमा करने की आखिरी तारीख भी दी होती है जिससे पहले आपको क्रेडिट कार्ड का बिल जमा करना होता हैं।

क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान कैसे होता है?

आप अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान आफलाइन या आनलाइन दोनो तरीकों से कर सकते हैं। आप चाहें तो नेट बैंकिग के द्वारा बिल का भुगतान कर सकते है। या सीधे बैंक मे जाकर आप अपना बिल जमा कर सकते हैं। इसके अलावा आप किसी आनलाइन पेमेंट करने वाले एप जैसे Phonepe, Paytam आदि से भी बिल भुगतान कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड का कितना बिल पेमेंट करना चाहिए?

क्रेडिट कार्ड के बिल के भुगतान मे आपके पास विकल्प होता हैं कि आप मिनिमम बैलेंस भरना चाहेंगे या पूरा बिल। अगर बात करे की आपको कितना बिल भुगतान करना चाहिए तो मै आपको एक सलाह देना चाहूंगा कि आपको हमेशा पूरा बिल भरना चाहिए वो भी डयू डेट से पहले क्योकि यदि आप मिनिमम बैलेंस का भुगतान करते हैं तो बाकी बचा हुआ बिल आपके अगले बिल मे जमा होता जाएगा। इससे ये होगा की बाकी बचे बिल पर ब्याज व चार्ज लगेगा जो आपको बहुत महंगा पड सकता हैं। इसलिए कोशिश करे कि पूरा बिल भुगतान करें क्योंकि यदि आप कुछ बिल बाकी रह जाता है तो इसका चार्ज दिन प्रतिदिन बढ़ता जाता है।

दोस्तों ये जानकारी आपको कैसी हमें बता सकते हैं साथ ही आप फाइनेंस से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को फोलो कर सकते हैं। हम अपने फेसबुक पेज व टेलीग्राम चेनल पर लगातार अपडेट डालते रहते हैं। ये जानकारी आपके लिए बहुत काम आ सकती है।

धन्यवाद!!

Leave a Reply