बैंक ऑफ इंडिया लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी ब्याज दर, पात्रता, जरूरी दस्तावेज, bank of india loan against property interest rate, Eligibility, required documents
बैंक ऑफ इंडिया लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी

Bank Of India Loan Against Property: प्राॅपर्टी लोन (लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी) के लिए बैंक ऑफ इंडिया एक अच्छा विकल्प हो सकता है। किसी भी लोन के लिए ब्याज दर, प्रोसेसिंग फीस व अन्य शुल्क, लोन की रकम, लोन की अवधि का उचित होना जरूरी होता है। इन्ही के आधार पर कह सकते हैं कि कौन सा बैंक लोन के लिए बहतर हैं।

Bank Of India Loan Against Property (LAP)

बैंक ऑफ़ इंडिया (BOI) भारत के सबसे बड़े बैंकों में से एक हैं। जो अपने ग्राहकों को कई तरह की वित्तीय सेवाएं प्रदान करता है। सबसे कम ब्याज दर पर प्राॅपर्टी लोन मुहैया कराने वाले बैंकों में बैंक ऑफ़ इंडिया का नाम भी शामिल हैं। प्राॅपर्टी लोन (माॅर्गेज लोन) के लिए बैंक ऑफ़ इंडिया की शुरुआती ब्याज दर 8.85 प्रतिशत है।
बैंक ऑफ इंडिया से प्राॅपर्टी लोन लेने के लिए जरूरी जानकारी जैसे- ब्याज दर, पात्रता मानदंड, आवश्यक दस्तावेज, नियम व शर्ते आपको इसी आर्टिकल में मिलने वाली है।

बैंक ऑफ़ इंडिया लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी ब्याज दर

Property Loan के लिए बैंक ऑफ़ इंडिया द्वारा 8.85 प्रतिशत से 9.30 प्रतिशत तक वार्षिक ब्याज वसूला जाता है। लोन की ब्याज दर मे हर व्यक्ति के लिए थोड़ा अंतर हो सकता है। क्योंकि लोन की ब्याज दर आवेदनकर्ता की रिस्क प्रोफाइल, क्रेडिट हिस्ट्री, आयु, इनकम, लोन की रकम, लोन की अवधि आदि के कारण कम या ज्यादा हो सकती है। इन सभी को ध्यान में रखते हुए ही लोन के लिए अप्लाई करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें- प्लाट पर लोन कैसे ले, प्लाट की रजिस्ट्री पर लोन कैसे ले Interest Rate, Eligibility

बैंक ऑफ़ इंडिया लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी प्रोसेसिंग फीस

लगभग हर तरह के लोन पर प्रोसेसिंग फीस (Processing Fee) लगाई जाती है। बैंक ऑफ़ इंडिया से प्राॅपर्टी लोन लेने पर प्रोसेसिंग फीस 0.75 से 1.0% हो सकती हैं। या न्यूनतम 5000 व अधिकतम 50000 रूपए हो सकती है। प्रोसेसिंग फीस की रकम पर 18% GST भी लगाई जाती है।

बैंक ऑफ़ इंडिया लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी पात्रता मानदंड

Bank Of India (BOI) Loan Against Property के लिए कुछ पात्रता मानदंड हैं जिन्हें पूरा करने के बाद ही लोन लिया जा सकता है जैसे-
• आवेदक की न्यूनतम आयु 21 वर्ष व अधिकतम उम्र 60 वर्ष होनी चाहिए।
• स्व-नियोजित (Self Employed) के लिए आयु सीमा 21 से 70 वर्ष होती है।
• वेतनभोगी, स्व-नियोजित, प्रोफेशनल, फर्म, पब्लिक और प्राइवेट कंपनी, ट्रस्ट आदि प्राॅपर्टी लोन ले सकते हैं।
• आवेदक का स्थिर आय का स्रोत होना चाहिए।
• आवेदक की न्यूनतम आय 12000 रूपए प्रति माह होनी चाहिए।
माॅर्गेज की जाने वाली प्राॅपर्टी बिक्री योग्य होनी चाहिए।
• आवेदक का सिबिल स्कोर अच्छा होना चाहिए।
ऊधारकर्ता के अनुसार इनके अलावा और भी पात्रता के लिए मानदंड हो सकते हैं जिन्हें लोन लेते समय Fullfil करना जरूरी होता हैं।

जरूरी दस्तावेज (Required Documents)

• पूर्ण रूप से भरा हुआ आवेदन फार्म
पहचान का प्रमाण व निवास का प्रमाण के लिए- आधार कार्ड, पेनकार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, बिजली बिल, टेलीफोन बिल आदि में से कोई एक होना चाहिए।
नौकरी का प्रमाण: सैलरी स्लिप, बैंक अकाउंट स्टेटमेंट।
• बिजनेस का प्रमाण: बिजनेस टेक्स रजिस्ट्रेशन, बैलेंस शीट, बिजनेस एड्रेस प्रूफ।
• इनकम डाक्यूमेंट्: 2 साल का आयकर रिटर्न, 2 साल का फार्म 16, 6 महीने की बैंक अकाउंट स्टेटमेंट।
• प्राॅपर्टी के दस्तावेज
• 2 पासपोर्ट साइज फोटो।
ऊधारकर्ता के अनुसार बैंक द्वारा इनके अलावा और भी दस्तावेज मांगे जा सकते हैं। जिनकी जानकारी आप बैंक से ले सकते हैं।

BOI प्रॉपर्टी लोन कितना मिल सकता है?

प्राॅपर्टी लोन की रकम तय करने में मुख्य भूमिका लोन टू वैल्यू रेश्यो की होती है। हालांकि और भी कई कारक हैं जिनकी वजह से प्राॅपर्टी लोन की रकम कम या ज्यादा हो सकती है जैसे-
लोन की अवधि
आवेदक की इनकम
आवेदक की आयु
आवेदक का सिबिल स्कोर
प्राॅपर्टी की लोकेशन
प्राॅपर्टी का प्रकार
प्रोॅपर्टी की उम्र
ये सभी प्राॅपर्टी लोन की रकम को प्रभावित करते हैं। बैंक ऑफ इंडिया सामान्यतः प्राॅपर्टी की वैल्यू का 40 से 60 प्रतिशत लोन देता है। वही लोन की रकम 3 लाख से 10 करोड रूपए के बीच हो सकती है।

लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी (प्राॅपर्टी लोन) अवधि

BOI से प्राॅपर्टी लोन लेकर रिपेमेंट के लिए अधिकतम 12 साल का समय मिल सकता है। हालांकि लोन की अवधि कई कारणों से कम या ज्यादा भी हो सकती है जैसे-
लोन की रकम
लोन की ईएमआई
आवेदक की इनकम
आवेदक की आयु।

इसे भी पढ़ें- मकान की रजिस्ट्री पर लोन कैसे मिलेगा: ब्याज दर, योग्यता, जरूरी दस्तावेज

लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी ब्याज दर तुलना

बैंकवार्षिक ब्याज दर
बैंक ऑफ इंडिया8.85-9.35%
एचडीएफसी बैंक8.75% – 9.90%
एसबीआई8.10% – 13.10%
आईसीआईसीआई बैंक8.35% – 10.00%
एक्सिस बैंक8.75% – 11%
बंधन बैंक10% – 13.50%
केनरा बैंक9.95% – 11%
पीएनबी8.75% – 10.50%
Loan Against Property Interest Rate Comparison

बैंक ऑफ़ इंडिया लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी ईएमआई व सेड्यूल

यदि आप 300000 रूपए का लोन 24 महीने के लिए लेते हैं जिसकी ब्याज दर 8.85 प्रतिशत हैं। इस लोन की हर माह की किस्त, ब्याज, मूलधन, व बकाया मूलधन इस प्रकार होगा।

माहईएमआईब्याज मूलधनबकाया मूलधन
0113,6852,21211,4722,88,528
0213,6852,12811,5572,76,971
0313,6852,04311,6422,65,329
0413,6851,95711,7282,53,601
0513,6851,87011,8142,41,786
0613,6851,78311,9022,29,885
0713,6851,69611,9892,17,895
0813,6851,60712,0782,05,817
0913,6851,51812,1671,93,651
1013,6851,42812,2571,81,394
1113,6851,33812,3471,69,047
1213,6851,24712,4381,56,609
1313,6851,15612,5301,44,079
1413,6851,06312,6221,31,457
1513,68597012,71511,8742
1613,68587612,8091,05,933
1713,68578112,90493,029
1813,68568612,99980,030
1913,68559013,09566,936
2013,68549413,19153,745
2113,68539613,28840,456
2213,68529813,38627,070
2313,68520013,48513,585
2413,68510013,5840
Total3,28,43528,4353,00,000
Bank Of India Loan Against Property EMI Calculator

ईएमआई को प्रभावित करने वाले कारक

लोन की रीपेमेंट करने के लिए ईएमआई का सही चुनाव करना बहुत जरूरी होता है। बहुत से ऐसे कारक है जो ईएमआई को कम व ज्यादा कर सकते हैं जैसे-

लोन की रकम (Amount)

सीधे तौर पर देखा जा सकता है कि लोन की रकम जितनी अधिक होगी ईएमआई की रकम भी अधिक ही होगी हालांकि अवधि को बढ़ा कर ईएमआई की रकम कम कर सकते हैं। मगर बैंक द्वारा अधिकतम अवधि सीमा भी तय की होती है। जिसके दायरे में रहकर अवधि का चुनाव करना होता है। इसलिए लोन की रकम ईएमआई को कम या ज्यादा करने में मुख्य भूमिका निभाती है।

इंटरेस्ट रेट (Interest Rate)

ब्याज दर अधिक होने पर चुकाने वाली रकम भी अधिक हो जाती है। जिसे चुकाने के लिए ईएमआई भी अधिक देनी होती हैं। इसलिए ब्याज दर का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। कोशिश करनी चाहिए कि कम से कम ब्याज दर पर लोन मिल सकें।

लोन अवधि (Tenure)

लोन की अवधि जितनी अधिक होगी ईएमआई की रकम उतनी कम होगी मगर अवधि लंबी होने पर ईएमआई की संख्या बढ़ जाती है। ऐसा करने पर लोन पर अधिक ब्याज चुकाना पड़ता है। अपने बजट के हिसाब से ईएमआई की रकम चुनकर अवधि को कम या ज्यादा किया जा सकता है।

आवेदक की इनकम (Income)

बैंक, लोन की रीपेमेंट में किसी प्रकार का डिफ़ाल्ट नही चाहता है। इसलिए आवेदक की इनकम कम होने पर बैंक अधिक रकम की ईएमआई चुनने का विकल्प नहीं देता है। अक्सर देखा जाता है कि ईएमआई की रकम इनकम का 30 या 40 प्रतिशत ही हो सकती है। इससे अधिक रकम की ईएमआई चुनने की बैंक अनुमति नहीं देता है।

रिपेमेंट क्षमता (Repayment Capacity)

आवेदक की इनकम, मासिक खर्च, अन्य लोन की ईएमआई को ध्यान में रखकर रिपेमेंट क्षमता का आंकलन किया जाता है। जब आवेदक के दैनिक जीवन के खर्च या अन्य लोन की ईएमआई अधिक होती है तो अधिक रकम की ईएमआई का चुनाव नहीं किया जा सकता है। जिसके कारण लोन की अवधि लंबी हो जाती है। और ईएमआई की संख्या बढ़ जाती है।

लोन का उद्देश्य क्या हो सकते हैं

Loan Against Property (संपत्ति के विरुद्ध लोन) लेने का उद्देश्य बहुत से कार्यो के लिए हो सकता है। जैसे-
निजी वित्तीय जरूरतें
बिजनेस में विस्तार के लिए
मेडिकल खर्च के लिए
बच्चों की शिक्षा के लिए
बच्चों की शादी के लिए
काॅमर्शियल व रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी का निर्माण
वर्तमान लोन के भुगतान के लिए।

बैंक ऑफ़ इंडिया प्रॉपर्टी लोन की विशेषताएं

बैंक ऑफ़ इंडिया से प्राॅपर्टी लोन के तहत 3 लाख से 10 करोड रूपए तक का लोन मिल सकता है।
• लोन रिपेमेंट अवधि 12 साल मिल जाती हैं।
• लोन की प्रोसेसिंग फीस 0.50 से 1 प्रतिशत हो सकती है।
• बैंक ऑफ़ इंडिया प्राॅपर्टी लोन की प्रक्रिया सरल होती है।
• रेजिडेंशियल व कामर्शियल दोनों तरह की प्राॅपर्टी पर लोन लिया जा सकता है।
• 12 साल की रिपेमेंट अवधि मिलती है जिसमें ऊधारकर्ता अपने अनुसार लोन की रिपेमेंट अवधि चुन सकता है।
• कोई छूपा हुआ शुल्क नहीं लगाया जाता है।
• Term Loan, Demand, Overdraft Facility भी मिल जाती है।

प्राॅपर्टी लोन नियम व शर्ते

प्राॅपर्टी लोन की ईएमआई आवेदक की मासिक आय का अधिकतम 40 प्रतिशत हो सकती है।
• बैंक ऑफ़ इंडिया कृषि योग्य भूमि पर प्राॅपर्टी लोन नहीं देता है।
• आवेदनकर्ता अपनी वार्षिक आय का 4 गुणा तक लोन ले सकता है।
• प्राॅपर्टी आवेदक के नाम होनी चाहिए।
• प्राॅपर्टी के सभी मालिक सह-आवेदक होने चाहिए।
• सह-आवेदक परिवार का सदस्य या प्राॅपर्टी मे हिस्सेदारी रखने वाला होना चाहिए।
• लोन की रिपेमेंट की जिम्मेदारी सभी सह-आवेदको पर होगी।
Demand Loan, Overdraft लेने पर बैंक द्वारा रिपेमेंट की मांग करने पर रकम का भुगतान करना होगा।

Bank Of India Customer Care Number

सामान्य पूछताछ के लिए
1800 103 1906 (Tollfree) / 1800 220 229 (Tollfree – Covid Support) / (022) – 40919191 (chargeable number) 24 X 7

इन्हे भी पढ़ें- प्रॉपर्टी लोन इंटरेस्ट रेट, Property Loan Interest Rate को प्रभावित करने वाले कारक

इंडिया शेल्टर होम लोन Interest Rate, Processing Fee, Eligibility, Required Documents

बंधन बैंक पर्सनल लोन कैसे ले | Bandhan Bank Bank Personal Loan Details In Hindi

Leave a Reply