क्रेडिट कार्ड् के फायदे और नुकसान: यदि आप क्रेडिट कार्ड लेना चाहते हैं। और आपके मन मे एक सवाल है कि क्रेडिट कार्ड बनवाने से फायदें होंगे या नुकसान तो हम आपको आज इस सवाल का जवाब देने वाले हैं। साथ ही हम क्रेडिट कार्ड के बारे में सारी जानकारी बताने वाले हैं। इसके सामान्य फायदे व नुकसान भी Discuss करेंगे। और बताएंगे कि कब आपको क्रेडिट कार्ड लेना चाहिए और कब नहीं।

आजकल अनेकों प्रकार के क्रेडिट कार्ड चलन मे हैं। जिनका इस्तेमाल भी थोड़ा अलग अलग होता है। किसी एक विशेष काम के लिए अलग क्रेडिट कार्ड होता है।

ध्यान रखने वाली बात तो ये हैं कि क्रेडिट कार्ड फायदेमंद होने के साथ-साथ नुकसानदायक भी हो सकता है। जैसा कि देखा गया है कि बहुत से लोग क्रेडिट कार्ड के जाल मे फंसते चले जाते हैं। जिसकी वजह से उनकी आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो जाती है। इसलिए सोच समझकर ही क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना चाहिए। आइए क्रेडिट कार्ड के बारे में थोड़ा जान लेते हैं।

क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान क्या होते हैं
क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान

क्रेडिट कार्ड की वार्षिक फीस कितनी होती है?

क्रेडिट कार्ड लेने के बाद आपको इसकी वार्षिक फीस भी चुकानी होती है। वैसे कुछ बैंक वार्षिक फीस की छूट देकर क्रेडिट कार्ड बनाने का आफर भी देते हैं। मगर उनके बहुत से नियम व शर्ते होती है। जिनको पूरा करने के बाद ही क्रेडिट कार्ड की वार्षिक फीस मे छूट का लाभ लिया जा सकता है। लगभग सभी बैंक क्रेडिट कार्ड के लिए वार्षिक फीस लेते हैं। जो 500 से 1500 रूपए तक हो सकती हैं।

क्रेडिट कार्ड की ब्याज दर कितनी होती है?

क्रेडिट कार्ड को आमतौर पर 30 से 50 दिन तक के लिए बिना ब्याज के इस्तेमाल कर सकते हैं। क्रेडिट कार्ड के पेमेंट की डयू डेट के बाद ही ब्याज लगता है। अगर क्रेडिट कार्ड के माध्यम से एटीएम से कैश निकाला जाए तो निकाली गई रकम पर निकासी वाले दिन से ही ब्याज शुरू हो जाता है। जो 18 प्रतिशत से लेकर 45 प्रतिशत तक हो सकता हैं। क्रेडिट कार्ड की ब्याज दर बैंक व क्रेडिट कार्ड के प्रकार पर निर्भर करती हैं कि ब्याज की दर कितनी होगी। सामान्यतः क्रेडिट कार्ड की ब्याज दर 18 से 45 प्रतिशत हो सकती है।

क्रेडिट कार्ड कब लेना चाहिए?

क्रेडिट कार्ड कब लेना चाहिए इसका जवाब कई बातों पर निर्भर करता है। क्रेडिट कार्ड लेने से पहले आपको समझना चाहिए कि क्या आपको क्रेडिट कार्ड की आवश्यकता है या नहीं। यदि आपको लगता है कि आपको क्रेडिट कार्ड की वास्तव मे आवश्यकता है तो आप क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं। बिना जरूरत के क्रेडिट कार्ड लेने का मतलब है कि आप बिना सीढ़ी के कुएं में उतर रहे हैं। नीचे जाकर आप निश्चित फंसे रहेंगे।

क्या क्रेडिट कार्ड को एटीएम की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं?

जी हां क्रेडिट कार्ड को एटीएम कार्ड की तरह कैश निकालने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। मगर इससे कैश निकालना बहुत महंगा पड़ता है। क्रेडिट कार्ड से कैश निकालने पर शुल्क लगता है साथ ही निकाले गये कैश पर ब्याज भी लगता है। जिसके चलते क्रेडिट कार्ड से कैश निकालना महंगा पड़ता है। क्रेडिट कार्ड से कैश तभी निकाले जब आपको कैश की बहुत ज्यादा जरूरत हो अन्यथा आपको कैश ना निकालने की सलाह दी जाती है।

क्रेडिट कार्ड के फायदे

क्रेडिट कार्ड को यदि सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो यह बहुत फायदेमंद हो सकता है। क्रेडिट कार्ड निम्न रूप से फायदेमंद होता है।

इस्तेमाल मे आसान है

क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना बहुत आसान होता है। इसे आनलाइन या आफलाइन शापिंग करने मे इस्तेमाल किया जा सकता है। लगभग सभी बड़े आउटलेट क्रेडिट कार्ड को Accept करते हैं।

रिवार्ड्स पाइट मिलते हैं

क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर रिवार्ड्स पाइट व कैशबैक मिलता है। कई बार क्रेडिट कार्ड यूजर्स को किसी प्रोडक्ट की शापिंग पर आफर के तौर पर अधिक रिवार्ड्स भी मिल जाते हैं।

ब्याज मे छूट मिल जाती हैं

क्रेडिट कार्ड से खर्च किए गए रूपयों को डयू डेट से पहले भरने पर ब्याज नहीं लगता है। जिससे आपको एक से डेढ़ महीने के लिए बिना किसी ब्याज के पैसे इस्तेमाल करने का मौका मिल जाता हैं।

इमरजेंसी में काम आता हैं

जब आपके पास पैसे नहीं होते हैं तब भी आप क्रेडिट कार्ड से पेमेंट कर सकते हैं। इस प्रकार इमरजेंसी में यह एक अच्छा विकल्प होता है।

No Cost Emi भी मिलती है

आनलाइन शापिंग करने पर आपको नो कोस्ट ईएमआई का विकल्प क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने पर मिल जाता है। इसमें आप बिना ब्याज दिये ही ईएमआई पर कोई चीज़ खरीद सकते हैं।

Refund की झिंझट खत्म

जब आप कोई आनलाइन सामान खरीदते हैं। जिसमें आपको Replacement का विकल्प मिलता हैं। और यदि आपका सामान खराब या Damaged हैं तो आप उसे Replacement कर सकते हैं। जिसमें आपको Refund के लिए कुछ करने की आवश्यकता नहीं होती है। क्योंकि पैसा क्रेडिट कार्ड से कटा हैं। इसलिए क्रेडिट कार्ड कंपनी अपने आप पैसे रिफंड करा लेती हैं।

क्रेडिट कार्ड के नुक़सान

जैसा कि हमनें पहले भी बताया है कि क्रेडिट कार्ड फायदेमंद होने के साथ-साथ नुकसानदायक भी हो सकता हैं। इसलिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल बहुत सोच समझकर ही करना चाहिए।

कहते हैं कि सावधानी हटी तो दुर्घटना घटी ऐसा ही कुछ क्रेडिट कार्ड के मामले में होता है। यदि आप सावधानी और समझदारी से क्रेडिट कार्ड का यूज करते हैं और सभी पेमेंट को सही समय पर भरते हैं तो आप क्रेडिट कार्ड की दुर्घटना से बच सकते हैं। आइए जानते हैं कि क्रेडिट कार्ड कैसे आपके लिए नुकसानदायक हो सकता हैं।

अधिक खर्च होता है

जब आप कैश मे कोई चीज़ खरीदते हैं तो आपको पैसे देने मे थोड़ा दर्द महसूस होता है। मगर जब आप किसी कार्ड या UPI से पैसे देते हैं तो आपको पैसे खर्च करने में इतना दर्द महसूस नहीं होता हैं। इसी कारण क्रेडिट कार्ड से भी हम ज्यादा पैसे खर्च कर देते हैं।
कई बार तो ऐसा भी होता जाता हैं कि जितनी रकम हम क्रेडिट कार्ड से खर्च कर लेते हैं उतनी हमारी महीने की इनकम भी नहीं होती है।

कैश निकालना महंगा पड़ता है

यदि आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल एटीएम से कैश निकालने में करते हैं तो आपको बहुत ज्यादा चार्ज देना पड़ सकता है। इसलिए क्रेडिट कार्ड से कैश ना निकाले तो यही फायदे का सौदा होगा।

इसे भी पढ़ें- क्या क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल एटीएम से कैश निकालने के लिए करना चाहिए

कई तरह की शुल्क देनी पड़ती है

ये मानकर ना चलें कि क्रेडिट कार्ड देने वाली कंपनी आपको फ्री मे एक से डेढ़ महीने के लिए पैसे इस्तेमाल करने के लिए देती हैं। बल्कि ये कंपनी आपसे हर काम के लिए कुछ न कुछ चार्ज ज़रूर करती हैं। जैसे मेंटीनेंस चार्ज, Cash Advance Charge, Finance Charge, Late Fee आदि।
जब आप अपने क्रेडिट कार्ड के पूरे साल का स्टेटमेंट देखेंगे तो आपको पता चल जाएगा कि आपसे कौन कौन से चार्ज लिये गये हैं।

बहुत ज्यादा ब्याज लगता है

क्रेडिट कार्ड का असली खेल तो तब शुरू होता है जब आप पेमेंट की डयू डेट से पहले पेमेंट नहीं करते हैं। डयू डेट के बाद खर्च किये गये रूपयों पर ब्याज लगना शुरू हो जाता है साथ ही कई चार्ज भी लगा दिए जाते हैं। किसी भी लोन के ब्याज दर से महंगा ब्याज क्रेडिट कार्ड का ही होता हैं। क्रेडिट कार्ड की ब्याज दर 35 या 45 प्रतिशत तक भी हो सकती हैं।

सिबिल स्कोर पर भी फर्क पड़ता है

क्रेडिट कार्ड के द्वारा खर्च की गई रकम का भुगतान सही समय पर न करने पर सिबिल स्कोर भी डाउन हो जाता है। जिसके कारण भविष्य मे लोन जैसी सुविधाओं को लेना मुश्किल हो सकता हैं।

इन्हे पढ़ना ना भूलें

जानिए सिबिल स्कोर क्या है, सिबिल स्कोर कैसे ठीक करें

कम सिबिल स्कोर के नुक़सान क्या हो सकते हैं | सिबिल स्कोर क्यो जरूरी होता है।

पैसे खर्च करने की आदत

जब हम हर चीज को खरीदने के लिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो हमें ज्यादा पैसे खर्च करने की आदत पड़ जाती है। क्रेडिट कार्ड कंपनी आपसे यही कराना चाहती हैं। जिससे वे ज्यादा से ज्यादा कमाई कर सकें। मगर ऐसा करना हमारे Wealth के लिए सही नही होता है।

क्रेडिट कार्ड के Terms And Conditions

क्रेडिट कार्ड के नियम व शर्ते बहुत छोटे शब्दों में लिखें होते हैं। तथा बहुत ज्यादा नियम व शर्ते होती है जिनको पढ़ने में हम कई बार आलस कर देते हैं। मगर नियम व शर्ते को पढ़ना चाहिए क्योंकि इनमें ऐसे ऐसे शुल्क लिखें होते हैं जिनके बारे मे आपको बताया नहीं जाता है। क्रेडिट कार्ड के हर ट्रांजैक्शन जैसे बेलेंस ट्रांसफर करने पर, कैश निकालने पर, लेट पेमेंट होने पर इनके अलावा भी बहुत से शुल्क होते हैं जिन्हें आपको देना पड़ता है।

निष्कर्ष

क्रेडिट कार्ड कोई खराब चीज़ नहीं है बल्कि इसका सही ढंग से इस्तेमाल ना करना ही इसे नुकसानदायक बना देता है। बहुत से लोग क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करके पैसे की बचत कर लेते हैं। यदि आप भी क्रेडिट कार्ड से लाभ लेना चाहते हैं तो आप हमेशा क्रेडिट कार्ड से जरुरत की वस्तुएं खरीदे तथा सही समय पर क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान कर दें।

इस लेख में अपने क्रेडिट कार्ड के बारे में जाना साथ ही क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान को भी विस्तार से जाना है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये जानकारी अच्छी लगी होगी व आपके लिए उपयोगी होगी। ऐसी ही जानकारी पाने के लिए आप हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पेजटेलीग्राम चेनल से भी जुड़ सकते हैं। इस पोस्ट मे सिर्फ इतना ही धन्यवाद।

इन्हे भी पढ़ें-

फेसबुक से बिजनेस लोन कैसे लें | 5 लाख से 50 लाख तक का बिजनेस लोन

कम सिबिल स्कोर पर कैसे लोन लें | खराब क्रेडिट स्कोर होने पर भी ऐसे मिलेगा लोन

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन कैसे आवेदन करें? Pradhanmantri Mudra Loan Kaise Le

Leave a Reply